27/05/2020. P/70

हिन्दी/
///////
टाइम बीतने के साथ होम में लड़कों की संख्या धीरे धीरे कम होती जा रही थी। मेरा ६वी क्लास का फाइनल एग्जाम स्टार्ट जो गया था। पहला पेपर हिन्दी का था। उसके बाद वाला हिस्ट्री का था। और ३ सरा साइंस का था। जब मै साइंस का पेपर दे के आया तो बस होम के गेट पर खड़ी थी खाना खाने के तुरंत बाद ही बस में बैठा दिया गया और मेरा ट्रांसफर हो गया। ट्रांसफर खा हुआ था किसी को भी नहीं पीटा था। जब बस थोड़ी देर बाद रुकी तो पता चला कि पूरे होम के स्टाफ और लडके अलीपुर होम में ट्रांसफर हुए हैं। मैंने अपना ६वी कक्षा का एग्जाम का टाइम टेबल ऑफिस में दिया। कि मेरा अगला पेपर कब होगा ऑफिस वालों ने कहा ठीक है लेकिन थोड़ी देर बाद मेरे एग्जाम का तारीख वाला कागज ऑफिस के गेट पर फटा मिला मैने एग्जाम करवाने के लिए प्रार्थना पत्र भी दिया लेकिन ऑफिस वालो ने ये कहकर मना के दिया कि था स्टाफ की कमी है। जिसकी वजह से में अपने बचे हुए पेपर नहीं दे पाया और ६ कक्षा में फेल हो गया। अलीपुर होम में जब गाड़ी इंटर हो रही थी तब तक तो इसा लग रहा था कि ये हम कीसी जंगल में छोड़ने वाले है। ऐसा इसलिए लग था कि होम के चारो ओर पेड़ और झाड़ियां थी कि होम दिख ही नहीं रहा था। दूसरे दिन एक मोटा दिखने वाला आदमी आया और मुझे अपने साथ चलने को कहा मै उसके साथ गया तो ओ मुझे किचेन में ले गया और रोटी बेलन को कहा मैंने रोटी बेली जब सारी रोटी ख़तम हो गई तो उसने अगले दिन फिर आने को कहा।https://myjourney971.blogspot.com/2020/05/26052020-p69.html?m=1









English translate/
////////////////////////////
 With the passage of time, the number of boys in the home was gradually decreasing.  My 9th class final exam started which went.  The first paper was in Hindi.  The latter was history.  And 3rd was science.  When I came to give the science paper, the bus was standing at the gate of the home, immediately after having dinner, I was put in the bus and I was transferred.  No one was beaten while the transfer was taking place.  When the bus stopped after a while, it was found that the staff and boys of the entire home have been transferred to Alipur home.  I gave my 4th class exam time table in the office.  When will my next paper be said by the office people? Well, but after a while, the date paper of my exam was found torn at the office gate. I also gave an application to get the exam done, but the office staff refused saying that it was the staff  Is lacking.  Due to which I could not give my remaining papers and failed in 4 classes.  By the time the train was being intercepted in Alipore Home, it seemed that we are going to leave it in the forest.  It seemed that there were trees and shrubs around the house that the house was not visible.  The next day a fat looking man came and asked me to go with him, I went with him, O took me to the kitchen and told him to roti roti. When I finished all the roti, he asked me to come again the next day.





https://myjourney971.blogspot.com/2020/05/26052020-p69.html?m=1


Comments

Post a Comment

Popular posts from this blog

लालकिला / travel vlog

मीना बाजार/छत्ता चौंक लालकिला

लालकिला/ लाहौरी गेट