17/05/2020. P/60

हिन्दी/
///////
जैसे ही उस लडके ने कहा ठीक है गांधी जी कोई दिखेगा तो मै होम में फोन कर दुगा गांधी जी ने उसे पकड़ लिया और बोले मैंने तो तुझे अपना नाम बताया ही नहीं तो तू केसे जनता है। तू भी भागे हुआ है होम से चल होम में उसने भूत कोशिश की छुड़ाने की लेकिन गांधी जी की पकड़ इतनी मजबूत थी कि छुड़ा नहीं पाया। लेकिन वो आने को तैयार नहीं हो रहा था फिर गांधी जी ने कहा कि तुझे कोई नहीं मरेगा भागने के चक्कर में कई बार मनाने के बाद वो मान गया उसके बाद वो गांधी जी के साथ होम आया लेकिन गांधी जी ने सभी स्टाफ को उसे मारने के लिए मना कर दिया। तो उसे किसी ने नहीं मारा लेकिन होम स्टाफ ने एक वीक के बाद जानबूझकर गलती निकाल कर उसकी ठुकाई की एक बार किसी कमिने ने सब्जी मै नीम के पत्ते डाल दिया था जिसकी वजह से पूरी सब्जी कड़वी हो गई थी किचेन वालों को तो जानबूझर सब्ज़ी खिलाया भाई बहुत कड़वी थी कि चबाया भी नहीं गया और ना ही निगला गया। लगभग सभी लड़कों का ट्रान्सफर हो था। उनके मर्जी के मुताबिक ५वी कक्षा के एग्जाम हो रहे थे जिसे टीचर हेल्प कर देते थे। रिजल्ट में पास फिर होम के साइड में ही हाई स्कूल है उसमे मेरा और समीर , रातुल, राहुल , चार लडके और थे। सभी का एडमिशन हो गया ६वी कक्षा में पहली क्लास लगी पहला विषय इंग्लिश का था। सर का नाम नरेन्द था।









English translate/
////////////////////////////
As soon as that boy said, if someone will see Gandhiji, then I call him at home and Duga Gandhi ji has caught him and said, I have not told you my name or how you are known.  You have also run from home to home, he tried to get rid of the ghost, but Gandhiji's grip was so strong that he could not be released.  But he was not getting ready to come. Then Gandhiji said that after persuading him many times in the run-up to flee you, no one agreed, after that he came home with Gandhiji but Gandhiji told all the staff to kill him.  Refused to.  So no one killed him, but after one week, the home staff deliberately made a mistake and paid him, once a bastard had put neem leaves in the vegetable, due to which the whole vegetable had become bitter, the people deliberately fed the vegetable.  Brother was very bitter that neither was chewed nor swallowed.  Almost all the boys were transferred.  According to his wish, 5th class exams were being done, which the teacher used to help.  In the result, there is a high school near the side of the home, in it, Mera and Sameer, Ratul, Rahul, four boys were there.  Everyone was admitted, the first subject in the 7th class was English.  Sir's name was Narendra.






Comments

Post a Comment

Popular posts from this blog

लालकिला / travel vlog

मीना बाजार/छत्ता चौंक लालकिला

लालकिला/ लाहौरी गेट