07/05/2020. P/50

हिन्दी/
///////
साल में एक दिन ऎसा था जिसका इंतजार हर लड़के को होता था। वो दिन था क्रिष्ण जन्माष्टमी यही एक ऐसा त्यौंहार था जिसका नाम हर लडके के जुबान पर होता था। एक महीना पहले से लडके अपनी अपनी कुटी को सजाने लगते थे। साथ ही मन्दिर जो हर कुटी में होता था। इन दिनों सभी कुटी की आपस में सबसे होड़ लगी होती थी। सबसे ज्यादा सुन्दर दिखने में कागज के झूमर झालर की कटिंग करके कुटी को ज्यादा से ज्यादा सुंदर बनाने की कोशिश करते थे। कृष्ण जी की बड़ी मूर्ति मगाई जाती है जो केयर टेकर लेकर आते है उसके साथ ही पूरे होम को सजाया जाता था दुल्हन को तरह उस दिन सभी लडके सुबह चार बजे ही उठ जाते थे। नहा के नए कपडे पहन कर तैयार रहते कुछ तो एक्साइटमेंट में पूरी रात नहीं सोते और कुछ लडके व्रत भी रखते थे। उस दिन व्रत वालो के लिए स्पेशल सामान व फल मगाए जाते थे। जो लडके व्रत रखते उनका नाम लिख कर ऑफिस में एक दिन पहले दे देते थे। ताकि ऑफिस वाले उनके लिए सामग्री मगा सके उस दिन कोई लड़ाई नहीं कोई किसी को नहीं मारता कोई गलती कर भी देता तो उसे अगले दिन के लिए छोड़ देते उस दिन खाना बनाने वाले हलवाई बाहर से आते पकवान बनाने के लिए खाने में कई प्रकार की चीजे बनती छोले भटूरे पूरी हलवा मुग का कई प्रकार की सब्जी मिठाई में रसगुल्ले ,गुलाबजामुन, घेवर, चार पाच जोड़ी न्यू कपडे , हाथे में बाधने के लिए न्यू घड़ी ,सिटी बजाने के लिए, फल इतने कि पूरी अलमारी भर लेते थे। जो पूरे वीक चलते थे। उस दिन कुछ भी करो फ्री किसी का डर नहीं सुप्रिदेंत सर सभी कुटी का मुआयना करते जो कुटी सबसे सुंदर दिखने उसे इनाम भी मिलता ।









English translate/
////////////////////////////
There was one day in the year that every boy was waiting for.  It was the day that Krishna Janmashtami was the festival that got its name on every boy's tongue.  A month ago, the boys started decorating their huts.  Also the temple which used to be in every hut.  These days all the huts were competing among themselves.  In looking the most beautiful, the paper chandelier tried to make the hut as beautiful as possible by cutting the frill.  A large idol of Krishna ji is worn, which brings care takers, as well as the entire home was decorated. Like the bride, all the boys got up at four in the morning.  Some would not sleep all night in excitation and some boys kept fasting while getting ready wearing new bath clothes.  On that day special items and fruits were called for fasting.  Those who kept fasting, used to write their names and give them a day before in the office.  So that the office people can get the ingredients for them, on that day there is no fight, no one kills anyone, even if they make a mistake, then leave it for the next day.  Banati Chhola Bhature Puri Halwa Mug variety of vegetable sweets include rasgulla, gulab jamun, ghevar, four pach duo new clothes, new clock to tie in hand, city to play,  The fruits were so full that they filled the entire cupboard.  Which used to run throughout the week.  Do anything on that day, there is no fear of anyone, Suprident Sir, he used to inspect all the huts, which would make him look the most beautiful.





Comments

Popular posts from this blog

लालकिला / travel vlog

मीना बाजार/छत्ता चौंक लालकिला

लालकिला/ लाहौरी गेट