02/05/2020. P/45

हिन्दी/
////////
स्कूल के गेट पर फिर से एक बार गिनती हुई उसके बाद हम लोग स्कूल में दाखिल हुए स्कूल का नजारा कुछ इस प्रकार था। 12 ओर 14 कमरे थे। स्कूल के चारो तरफ 12 फूट उची दीवार थी। ताकि कोई भाग ना सके ग्राउंड में एक हंड पंप था। पानी पीने के लिए एक से लेकर पचवी कक्षा तक दो शिफ्ट थी क्लासों की मॉर्निंग में गर्ल्स और साम को लडके पड़ते थे। भाईसाहब ने सभी को स्कूल ग्राउंड में बैठाया और धमकी दी कोई भागता हुआ या अपने क्लास से बाहर मिला तो उसकी खैर नहीं। फिर भाईसाहब ने पेज निकाला जिसपर सभी न्यू एडमिशन वालो का नाम लिखा था और किस क्लास में लिखा है। मेरा नाम दूसरी क्लास में लिखा था जो प्रिंसिपल ऑफिस के साइड में था। फिर हम लोग अपनी अपनी क्लास में चले गए दूसरों लड़कों के साथ पहला दिन टीचर ने हम जमा के सवाल समझा रहा था और टीचर परेशान भी लग रहा था। जैसे किसी से लड़ के आया हो हमारी क्लास में एक और लड़का जिसका नाम था। सोनू वो भी होम का था। पानी की बोतल उठा कर पानी पीने लगा उधर टीचर सवाल समझा रहे थे और टीचर ने देख लिया उसके बाद तो टीचर ने समझाना छोड़ कर उसे पीटने में लग गए यार क्या बताऊं कभी लात तो कभी घुसा तो कोहनी थप्पड़ फिर डंडे से कम से कम भाई पूरा हाफ टाइम उसे पीटने में बिताया इतना टीचर ने उसे मारा था। कि उसके बॉडी पर निशान के अलावा छिल भी गया था। पूरे गलो पर अग्लियो के निसाथे पीठ पर पंजे डंडे के निशान और चमड़े उखड़ने लगे थे। टीचर बड़े संतोष भाव से चेयर पर बैठ के मज़े ले रहे थे जैसे कई दिनों का गुस्सा निकाला हो।












English translate/
/////////////////////////////
The school gate was counted once again after that, the view of the school we entered in school was like this.  There were 14 rooms on 12 sides.  There was a 12 foot high wall around the school.  There was a hand pump in the ground so that no one could escape.  There were two shifts from one to drinking water to the class of Pachavi, in the morning of classes girls and girls had to fight.  Brother-in-law made everyone sit on the school ground and threatened if anyone ran away or got out of his class.  Then brother-in-law took out the page on which the names of all the new admissions people were written and in which class.  My name was written in the second class which was on the side of the principal office.  Then we went to our class, along with the other boys, on the first day, the teacher was explaining the questions we had accumulated and the teacher was also feeling upset.  For example, there was another boy in our class whose name was after fighting someone.  Sonu was also from home.  After picking up the water bottle, he started drinking water, the teacher was explaining the question, and the teacher looked at him, after that the teacher left the explanation and started beating him.  The entire half-time was spent beating him so much that the teacher killed him.  Apart from the scar on his body, there was also peeling.  All over the street there were claws of paws and leathers were dislodged on the backside of Aglio.  The teacher was enjoying sitting in the chair with great satisfaction, as if he had got angry for several days.







Comments

Popular posts from this blog

लालकिला / travel vlog

मीना बाजार/छत्ता चौंक लालकिला

लालकिला/ लाहौरी गेट