16/06/2020. P/89

हिन्दी/
///////
एक बात मुझे हमेशा बुरी लगती थी । की जिस दिन दीपक और दूसरे स्टूडेंट्स भागते थे उसके अगले दिन सर उन सभी लोगों को छोड़ देते थे जिस दिन मै भी सबके साथ भागता था उस के अगले दिन सर सब को सजा देते थे मै स्कूल में पड़ने में ज्यादा अच्छा तो नहीं लेकिन बुरा भी नहीं था। सभी विषय कि कॉपी बनाना और इसे पूरा रखना मेरी आदत थी लेकिन एक और भी आदत थी कि में हर शनिवार को छुट्टी करता था और संडे की छुट्टी तो होती ही थी। हमारा छठी क्लास का वार्षिक एग्जाम हुआ और में पास हो गया छठी कक्षा में भी में तम्बाकू खाया करता था मै अकेला ही नहीं था जो तम्बाकू खाता था मेरे साथ मेरे क्लास के स्टूडेंट भी थे स्कूल में मेरा पहला दोस्त दीपक था। जो साथ ही जाया करता था और दूसरा दोस्त भी दीपक था लेकिन दोनों अगल अलग थे लेकिन नाम एक जैसा था। जो दीपक होम का था उसके दो भाई और भी थे। वो भी होम में ही थे एक का नाम सूरज था। और दूसरे का नाम विष्णु था। विष्णु तो सीधा साधा था लेकिन सूरज होम सबसे हरामि लड़कों में से एक था सूरज दूसरों लडको को बहुत परेशान करता था। जैसे उनका समान चोरी कर लेना दूसरों से अपना काम करवाना अगर कोई लड़का मना भी के दे तो उसे धमकी देना की उसका सामान वो चोरी कर लेगा सूरज के पास चाभी से भरा एक डब्बा था जिसमे लगभग हर ताले को खोलने की चाभी मिल जाती थी











English translate/
////////////////////////////
One thing I always felt bad about.  On the day that Deepak and other students ran, the next day Sir left all those people, the day I also used to run with everyone, the next day Sir used to punish everyone.  was not.  It was my habit to copy all the subjects and keep it full but there was another habit that I used to leave on every Saturday and it was a Sunday holiday.  We had our sixth class annual exam and passed in. I used to eat tobacco in the sixth grade as well. I was not the only one who used to eat tobacco. My class students were also with me, my first friend in school was Deepak.  One who used to go along and another friend was Deepak but both were different but the name was the same.  The one who belonged to Deepak Home had two other brothers.  He was also at home, one was named Suraj.  And the other name was Vishnu.  Vishnu was a simple man, but Suraj Home was one of the most dangerous boys, Suraj used to bother others a lot.  For example, if a boy refuses to steal his goods and make others do his work, then threaten him that he will steal his belongings. Sooraj had a box full of keys in which almost every key was found to open.








Comments

Post a Comment

Popular posts from this blog

लालकिला / travel vlog

मीना बाजार/छत्ता चौंक लालकिला

लालकिला/ लाहौरी गेट