10/06/2020. P/84

हिन्दी/
///////
मुझे लगा शायद फेस में कुछ दिक्कत होगी मैंने केबल को निकाल कर दुबारा लगाया तो केबल की दिक्कत ठीक हो गई और फिर मैंने टीवी रूम कि लाईट बंद कर दी और टीवी देखने लगा थोड़े देर बाद टीवी रूम के गेट पर कोई आके खड़ा हो गया मुझे लगा कि सूरज होगा। सूरज मेरा दोस्त था। हम दोनों साथ ही ज्यादा तर साथ ही रेहते थे। मैंने कहा कमिने अंदर आके बैठ जा वो अंदर आके टीवी रूम के सबसे पीछे बैठ गया उसके टीवी रूम के अंदर आते समय उसके पैरो की आवाज सुनाई नहीं दी। मुझे लगा कि शायद टीवी की आवाज की वजह से नहीं सुनाई दी हो फिर मैंने कहा कि पास में आके चटाई पर बैठ जा उसने अनसुना के दिया मैंने पीछे देखा तो अब भी वो वहीं बैठा था। मैंने टीवी रूम का लाईट बंद कर दिया था। जिसकी वजह से उसकी आकृति साफ साफ नहीं दिख रही थी। मैंने कुछ नहीं बोला टीवी देखने लगा रात के २ बजे पिक्चर ख़तम हुआ तो मैंने पीछे देखा तो वो अब भी वही बैठा था। फिर मैंने टीवी रूम कि लाईट जलाई तो वह कोई नहीं था। मै सीधा कुटी में गया और देखा तो सूरज सो रहा था। मै भी सोने की कोशिश करने लगा लेकिन आंखो से निड गायब थी। जागते- जागते सुबह हो गई। जब सूरज उठा तो मैंने उससे पूछा कल तू टीवी रूम में गया था। तो उसने कहा कल रात में जल्दी सो गया था। नीद बहुत तेज आ रही थी। फिर मैंने पूरी कुटी वालो से पूछा कल रात टीवी रूम में कौन गया था। किसी ने हा नहीं किया।










English translate
///////////////////////////
I thought maybe there would be some problem in the face, I removed the cable and then the cable problem was fixed and then I switched off the TV room light and started watching TV. After a while someone came and stood at the TV room gate.  I thought it would be sun.  Suraj was my friend.  We both used to live together as well.  I said come and sit inside, he came and sat in the back of the TV room. While coming inside his TV room, the voice of his feet was not heard.  I thought that maybe due to the sound of the TV, I had not heard it, then I said that after coming to sit on the mat nearby, he gave it to the unheard, I looked back and still he was sitting there.  I had turned off the TV room light.  Because of which his shape was not clearly visible.  I did not say anything. I started watching TV at 2 o'clock in the night when the picture was over, so I looked back and he was still sitting there.  Then I lit the TV room light, it was nobody.  I went straight to the hut and saw that the sun was sleeping.  I also started trying to sleep but sleep was missing from my eyes.  Waking up - it was morning.  When the sun rose, I asked her that you went to the TV room yesterday.  So he said he slept early last night.  Need was coming very fast.  Then I asked the people who had gone to the TV room last night.  Nobody did it.






Comments

Popular posts from this blog

लालकिला / travel vlog

मीना बाजार/छत्ता चौंक लालकिला

लालकिला/ लाहौरी गेट