08/06/2020. P/82

हिन्दी/
///////
मेरे साथ सभी गार्ड भी में गार्ड के साथ सभी लड़कों को टीवी रूम में के आया टीवी रूम में सभी लड़कों की गिनती हुई सभी के सभी लडके वहा मौजूद थे और सभी गार्ड भी टीवी रूम में मौजूद थे। सभी गार्ड ने डंडे और ताबीज और भगवान के लाकेट लेकर आए थे। केसे कही से पूजा करके आए हो करीब एक घंटा हम सभी लड़कों को टीवी रूम में बंद करके रखा गया। हमारे साथ अंदर चार गार्ड और टीवी रूम को बाहर से कुंडी लगाकर वहीं गेट पर दो गार्ड थे। जैसे कोई बड़ी मुसीबत आने वाली थी। करीब एक घंटे बाद सभी गार्ड अपने पोस्ट पर चले गए तो मै जाकर उरखा भाभी जी से पूछा कि क्या हुआ था। तो ूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूूू उरखा भाभी जी ने बताया बेटा ये बताने बावी चीज नहीं है। तो मै पीछे पोस्ट पर बैठे गार्ड से पूछा तो उसने मेरी और घुर के देखा फिर बोला १९९९ के दशक में जब ये होम कि बाउंड्री नहीं खींची थी तब था पर कुछ बदमाशों में शादी में फेरे के समय लड़की के पति को मार कर उठा कर यहां जहा नयी रोड बनी है उसके होम कि को बाउंड्री है। वहा पर उसे मार दिया उसके हाथ पैर अलग अलग कट कर जला दिया था। उसी की लडकी की आत्मा आज भी यही भटकती है। जो दोपहर में या रात में आती है। जो और लोगो को परेशान करती है। जिसके चक्कर मै बहुत से गार्ड यहां आने से डरते है। या काम भी करते तो १०-१५ दिन में भाग जाते है। जहा के सभी गार्ड पुराने है नया कोई टिकता ही नहीं है।










English translate/
////////////////////////////
All the guards with me also included all the boys in the TV room, all the boys were counted and all the guards were present in the TV room.  All the guards had brought poles and amulets and God's pockets.  How have you come to worship from somewhere, for about an hour all our boys were kept locked in the TV room.  With us there were four guards inside and latching the TV room from outside, there were two guards at the gate.  Like there was going to be a big problem.  After about an hour all the guards went to their post, then I went and asked Urkha Bhabhi ji what had happened.  So urka Bhabhi Ji told my son that this is not a good thing to tell.  So when I asked the guard sitting at the back post, he looked at me and stared, then said in the 19th, when this home boundary was not drawn, it was in some crooks by killing the girl's husband during the wedding.  Where the new road is built, its home is bound.  Killed him there, his hands and feet were cut and burned.  The same soul of his girl wanders even today.  Which comes in the afternoon or at night.  Which annoys more people.  In which many guards are afraid to come here.  Or even working, they run away in 10-15 days.  Where all the guards are old, the new one does not last.






Comments

Popular posts from this blog

लालकिला / travel vlog

मीना बाजार/छत्ता चौंक लालकिला

लालकिला/ लाहौरी गेट