05/06/2020. P/79

हिन्दी/
///////
एक दिन बीतने के बाद कुछ और विद्यार्थी हमारे सेक्शन में आए कुछ दिन बाद टीचर ने रोल नंबर बताया मेरा रोल नंबर ८३ था। हमारे सेक्शन में करीब १०५ विद्यार्थी थे। त्रैमासिक पेपर चालू हो गया था।और लगभग न्यू स्कूल बिल्डिंग का काम पूरा हो चुका था। जो पुरानी क्लास थे उनकी हालत बहुत खराब थी। उनकी दीवार जर्जर हो चुकी थी। छत सीमेंट वाले छपर से बनी थी जिसमे जगह - जगह छेद हो रहा था। डेस्क टूटे गए थे। उन क्लास में स्टडी करने वालो को बैठने के लिए जगह कम पड़ रही थी जिसकी वजह से कई क्लास को बड़े हॉल में बैठाया जाता था एक साथ जिससे अध्यापक ठीक से नहीं क्लास ले पा रहे थे। क्योंकि स्टूडेंट हमेशा शोर करके दूसरी क्लास को भंग करते रहते थे मेरा परीक्षा सुरु हो गया था। लेकिन मेरा किस्मत इतनी अच्छी नहीं थी मेरा एग्जाम सीट पुरानी क्लास में पड़ा था। परीक्षा के पहले दिन ही आसमान में बादल छाए हुए थे जैसे ही मेरा परीक्षा सुरु हुआ बारिश होने लगी परीक्षा क्लास के छत में बहुत से छेद थे। उनसे बारिश का पानी टपकने लगा जिससे बहुत विद्यार्थियों की परीक्षा कॉपी गीली हो गई टीचर ने सभी को खड़ा किया कुछ देर के लिए परीक्षा रोक दिया गया। जहा - जहा पानी नहीं टपक रहा था। वहा डेस्क लगाया फिर से परीक्षा सुरु हुआ सभी लोग पास - पास बैठे थे जिससे नकल करना आसान हो गया था। टीचर चाय बाहर गेट पर खड़े होकर चाय पी रहे थे। और अंदर बिलकुल शांत होकर कोई गाइड से तो कोई कुंजी ने तो कोई चिट से नकल करने लग गया। टीचर के घूमते ही सभी बिलकुल ठीक से बरताव करते जैसे सारे सरीफ है।









English translate/
////////////////////////////
After a day passed, some other students came to our section and after a few days, the teacher told me the roll number, my roll number was 43.  There were about 105 students in our section.  The quarterly paper was commissioned and almost the new school building was completed.  Those who were old class were in a very bad condition.  His wall was dilapidated.  The roof was made of cement thatched holes in which holes were being made.  The desks were broken.  Those studying in those classes were getting less space to sit, due to which many classes were used to sit in the big hall together which teachers were not able to take the class properly.  Because the students were always making noise and dissolving the second class, my exam was started.  But my luck was not so good, my exam seat was in the old class.  On the very first day of the exam, the sky was cloudy as soon as my examination started raining, there were many holes in the roof of the examination class.  The rain water started dripping from them, so that the examination copy of many students got wet. The teacher made everyone stand and the exam was stopped for some time.  Where there was no water dripping.  The desk was placed again and the examination was started, all the people were sitting close by which it was easy to copy.  The teacher was standing at the gate outside tea, drinking tea.  And inside became very calm and some guide started copying with a chit or some key.  As soon as the teacher turns around, everyone behaves in the same way as everyone does.










Comments

Popular posts from this blog

लालकिला / travel vlog

मीना बाजार/छत्ता चौंक लालकिला

लालकिला/ लाहौरी गेट