14/06/2020. P/88

हिन्दी/
///////
मेरे स्कूल से सभी अध्यापक और उनके खूबी और विद्यार्थियों द्वारा दिए गए अध्यापकों के अजीबो- गरीब नाम सुरुआत प्रिंसिपल से करते है। नाम , आशाराम विद्यार्थियों द्वारा दिया गया नाम था डोरेमोन इसलिए कि अपनी अलमारी से कुछ भी निकाल सकते थे । दीपक सर विद्यर्थियो द्वारा दिया गया नाम आशिक हमेशा अपनी वाइफ की फोटो देखते थे यहां तक कि क्लास में भी नरेंद्र धायिया सर  विद्यार्थियों द्वारा दिया गया नाम धायिया, विजेंदर सर विद्यार्थियों द्वारा दिया गया नाम खतरनाक मेन, एक सर उत्तर प्रदेश के थे उनको सभी दबंग बोलते थे। क्योंकि गलती करने पर कान मोड़कर वहीं पीटना चालू मुर्गा बनाकर जूते मारते थे। तोमर सर को मैजिकल मेन क्योंकि विद्यालय में कुछ भी एग्रीकल्चर से संबंधित कार्य वहीं करवाते थे। अजय पांडेय सर को विद्यार्थी स्पाइडर मेन कहते थे। सुनील सर को खोया पाया कहते थे क्योंकि वो हमेशा टॉपिक चेंज कर देते थे। मैथ टीचर को गुमशुदा की तलाश क्योंकि सर हमेशा कुछ नहीं में से भी आंसर निकाल देते थे। राजकमल सर को खड़ूस सर , उपाध्याय सर को पण्डित क्योंकि वो संस्कृत पड़ते थे। विक्रम सर हिन्दी के टीचर थे हमारे स्कूल में भुट्से अध्यापक थे लेकिन कुछ सर का सीखया या उनका समझाना हमारे पास जिंदगी भर के लिए रुक जाते है। हमारे हाई स्कूल के टीचर की याद तो लाइफ टाइम के लिए हमारे पास रह जाती है।









English translate/
////////////////////////////
All the teachers from my school and their abilities and the teachers given by the students, give a strange name to the Suruat Principal.  The name, given by Asharam's students, was Doraemon because he could extract anything from his cupboard.  The name Aashiq given by Deepak Sir Vidyarthiyo always used to see the photo of his wife, even in class, the name given by Narendra Dhaiya sir students was Dhaiya, the name given by Vijender Sir students was Dangerous Main, one sir was from Uttar Pradesh, all of them were domineering.  Used to speak  Because when he made a mistake, he would turn his ear and beat him and make his cock, and hit the shoes.  Tomar sir was called Magical Men because anything in the school used to get agriculture related work done there.  Ajay Pandey sir was called Vidyarthi Spider Men.  Sunil used to call Sir Khoya Paaya because he always changed the topic.  The search for the missing teacher to the math teacher, because the head always used to remove the answer from nothing.  Rajkamal sir was honored as Khadus sir, Upadhyay sir because he used to be Sanskrit.  Vikram sir was a teacher of Hindi, a Bhutse teacher in our school, but we have to stay for a lifetime to learn or explain some heads.  The memory of our high school teacher remains with us for life time.







Comments

Popular posts from this blog

लालकिला / travel vlog

मीना बाजार/छत्ता चौंक लालकिला

लालकिला/ लाहौरी गेट