13/07/2020. P/101

हिन्दी/
///////
कई लडके उस लड़की के मां के हाथों पिट चुके थे। लेकिन दिलीप फिर भी उस लड़की के पीछे पड़ा था। हेमन्त , हमेशा ग्राउंड में खेलता रहता था। चन्द्र प्रकाश हमेशा दूसरे दिन बंक हमारे क्लास का मोबाइल मेन जगदीश था। जगदीश हर महीने न्यू मोबाइल लाता था। और सभी क्लास के लडको को दिखाता था। जय प्रकाश पढाई में होसियार था। और मै तो आलसी था हमेशा शनिवार की छुट्टी करता था। और रविवार कि छुट्टी तो होती ही थी। इसलिए सर हमेशा मुझे एक के साथ एक फ्री छुट्टी मारने वाला कहते थे। हमारे मैथ के टीचर राजीव सर थे। दिखने में ही खतरनाक और मैथ के साथ तो साक्षात् यमराज लगते थे। मैथ में उनसे कुछ भी पूछ लो और दूसरे मैथ के टीचर थे कुंडू सर दुर्घटनग्रस्त होने के कारण कुंडू सर थोड़ा बच्चो जैसा बरताव करते थे लेकिन मैथ समझने और पढाने में सबसे बेस्ट थे उनसे सवाल पूछने बाहर कोचिंग के टीचर आते थे। जो और स्टूडेंट के लिए कोचिंग क्लास खोलते थे। मेरी क्लास के बहुत से विद्यार्थी बाहर कोचिंग पड़ते थे। प्रवीण सर घर का गुस्सा हम विद्यार्थियों पर निकलते थे बिना गलती के ही खड़ा क्लास में खड़ा करना और किसी दूसरे दिन कि गलती याद दिलाना पिटाई करते समय आंनद लेना उसकी आदत थी। विक्रम सर हिन्दी के टीचर कितना भी एग्जाम में लिखो या नकल किया हो या नहीं किया हो या चाहे पूरा गाइड ही लेकर एग्जाम में बैठे हो वो कभी भी किसी लडके को ५० अंक से ज्यादा नहीं देते थे।








English translate/
////////////////////////////
Many boys were beaten up by the girl's mother.  But Dileep was still after that girl.  Hemant was always playing in the ground.  Chandra Prakash was always the mobile man Jagdish of our class on the second day.  Jagdish used to bring new mobile every month.  And used to show the boys of all classes.  Jai Prakash was a hosier in studies.  And I was lazy and always used to take a Saturday off.  And Sunday was a holiday.  That's why Sir always called me a free holiday slayer with one.  Our Math teacher was Rajiv Sir.  He looked dangerous and looked like Math with Math.  Ask anything in Math and other Maths teachers were Kundu Sir, due to accident, Kundu Sir used to behave like little children, but the best teachers in understanding and studying Math came out of coaching teachers asking them questions.  Joe used to open coaching classes for students.  Many of my class students were coaching outside.  Praveen sir, we used to get angry at the students, it was his habit to stand in the class without any mistake and to enjoy the fun while reminiscing about the mistake of another day.  No matter how much the teacher of Vikram Sir Hindi wrote or copied in the exam or did it or even if he was sitting in the exam with only the guide, he never gave more than 50 marks to any boy.






Comments

Popular posts from this blog

लालकिला / travel vlog

मीना बाजार/छत्ता चौंक लालकिला

लालकिला/ लाहौरी गेट