होम में भूत

                                  होम में भूत 

स्थान   / नरेला दिल्ली ११००४० 
साल/ २००७
जब मैं होम(जेल नरेला दिल्ली ११००४०)में था। उस समय होम में भूत होने की कहानी पूरे बालको में फेमस थी। इसलिए नही की दूसरे लड़के बताते थे। बल्कि इस बात का विश्वास होम के सभी स्टाफ मेंबर भी मानते थे । होम में भूत देखे जाने की खबर का कई बार शोर मचा था। इसलिए सभी लोग ये मानते थे की होम में भूत रहते है। इसका मैन रीजन यह था कि जहा होम बना था । नरेला होम जहा बना था वहा पहले कब्रिस्तान था। वहा की कब्रे पहले वहा से दूसरी जगह शिफ्ट किया और फिर वहा पर एक मेंटल हॉस्पिटल और डेड बॉडी को जलाने का हीटर लगाया और कुछ सालो बाद उसे रिनोवेट करके वहा पर एक अनाथालय(होम) बनाया गया था। ये बात वहा का सभी स्टॉफ मेम्बर जानते थे। कई बार लाईट रात को चली जाती थी तो सभी लोग ग्राउन्ड में आ जाते थे जबकि अगर आपका मन है तो आप कूटी (१०/२०) का कमरा में आप रेह थे लेकिन लाईट जाने के बाद कोई भी अपने कूटी में नही रहता सभी लोग एक साथ ग्राउंड में आ जाते थे। नरेला होम में कई घटना भी हो चुकी थी। जैसे कि एक रात जब लाईट गई थी तब एक लडको को किसी ने किसी ने जमीन के अन्दर खींच लिया था उसका सिर्फ हेड ही बाहर दिख रहा था। लोगो को लगा कि ये जमीन खोदकर भागना चाहता था और फस गया लेकिन लोग इस बात से हैरान थे की थोड़ी देर पहले केयरटेकर हर एक कूटी चेक किया था। और उसे कुछ भी मिला था। और जो लड़का धसा था। उसने बताया कि किसी ने उसे जमीन के अंदर खींचा था। और उसके चिल्लाने पर और लोग उसकी हेल्प को उसके पास आए जहा वो धसा था लोगो ने चेक किया तो वह एक पुरानी कब्र थी जो जमीन ढीली होने पर धस गई थी। 














Ghost in the Home

 Location / Narela Delhi 110040

 Year/ 2007

 When I was in Home (Jail Narela Delhi 110040).  At that time the story of ghosts in the house was famous among all the children.  Not because other boys used to tell.  In fact, all the staff members of the home also believed in this fact.  The news of ghost sightings in the house had made noise several times.  That's why everyone used to believe that ghosts live in the house.  Its main region was where the home was built.  The place where Narela Home was built was earlier a graveyard.  The grave there was first shifted from there to another place and then a mental hospital and a heater to burn the dead body was installed there and after a few years it was renovated and an orphanage (home) was built there.  All the staff members there knew this thing.  Many times the light used to go off at night, then all the people used to come to the ground whereas if you want, then you were staying in the room of the hut (10/20) but after the light went off, no one stayed in his hut, all the people together.  Used to come to the ground together.  Many incidents had also happened in Narela Home.  For example, one night when the lights went off, someone pulled a boy underground, only his head was visible outside.  People thought that he wanted to dig the ground and run away and got trapped, but people were surprised that the caretaker had checked each and every pit a while back.  And he had found something too.  And the boy who had drowned.  He told that someone had dragged him underground.  And on his screams, more people came to his help where he was buried. When people checked, it was an old grave which had been buried when the ground was














Comments

Popular posts from this blog

लालकिला/ लाहौरी गेट

यादें/मेरी सबसे बुरी हालत