टूर के अगले दिन स्कूल केसा रहा 19/01/2021 P/123

           टूर के अगले दिन स्कूल कैसा रहा

////////

शाम के करीब ५ बजे होंगे फिर सभी लोग बस के पास आ गए और हमारा टूर ख़तम हुआ सभी लोग बस में बैठकर वापस आ गए। स्कूल के पास बस रुकी और सभी लोग - अपने अपने घर चले गए। अगले दिन क्लास में सभी विद्यार्थी बात कर रहे थे कि सबने क्या - क्या किया सबसे ज्यादा मजा तो ()ले रहा था। कि उसने कैसे लड़की को छेड़ा और नाम शशि राज का आया। और मुझे गुस्सा भी आ रहा था। और आश्चर्य भी था। कि उसके पास इतनी हिम्मत आयी कहा से हम सभी लोगो ने कई - कई बार फोटो खीचा था ओ भी फोन था नोकिया म्यूजिक एक्सप्रेस थोड़ी ही देर में अजय सर क्लास में आए और पूछा कि कल किसने - किसने शरारत किया था तो सबने सोचा कि हा किया तो पिटाई पड़ेगी लेकिन किसी के हा न कहने पर सर ने सबको दाट लगाया कि कल का दिन मौज़- मस्ती करने का था। तो क्यों नहीं किया। वैसे तो रोज स्कूल बंक करते हो और मौज करते हो लेकिन जब मौज करना था। तो कुछ नहीं किया लेकिन से को नहीं पता था। कि उनके प्यारे विद्यार्थियों ने शराफ़त का काम तो कभी किया ही नहीं था। सर ने कहा यही दिन है मौज मस्ती करने का जब बड़े हो जाओगे तो पता चलेगा कि गोल्डन टाइम क्या होता है। उसके बाद सर ने इंगलिश का एक चैप्टर पढ़ाया और होम वर्क दिया फिर चले गए अपनी दूसरी क्लास स्टैंड करने।






English translate/

////////////////////////////

 It will be around 5 in the evening, then all the people came near the bus and our tour was over, all the people came back after sitting in the bus.  The bus stopped near the school and everyone - went to their respective homes.  The next day, all the students in the class were talking about what everyone did - what was the most fun for them.  How he teased the girl and the name came to Shashi Raj.  And I was also angry.  There was more surprise.  That he got so much courage, said that all of us had taken photos many times, I also had a phone, Nokia Music Express came to Ajay sir class in a while and asked who did the prank yesterday, everyone thought that ha  If done, we will get beaten up, but on saying no to anyone, Sir scolds everyone that tomorrow was a day to have fun.  So why not.  By the way, you bunk school everyday and have fun but when you had to have fun.  Did nothing but Se did not know.  That his beloved students had never done sharafat work.  Sir said that this is the day when you grow up to have fun, you will know what the golden time is.  After that, Sir taught an English chapter and gave home work and then went to stand his second class.







Comments

Post a Comment

Popular posts from this blog

लालकिला / travel vlog

मीना बाजार/छत्ता चौंक लालकिला

लालकिला/ लाहौरी गेट